Connect with us

News

किस राज्य में किसे लगी है कोरोना की वैक्सीन, दिल्ली तक रहेगा पूरा हिसाब

Published

on

देश में नए साल में कोरोना से बचाव के लिए बड़े पैमाने पर टीकाकरण शुरू होने जा रहा है। वैक्सीन कैसे समय से शहरों तक पहुंचे और लोगों को लग सके। इसके लिए बड़े पैमाने केंद्र सरकार की ओर से तैयारी की जा रही है। राज्यों के शहरों में बने बूथों पर एक दिन में केवल 100 लोगों को ही वैक्सीन दी जाएगी। एक दिन में कितनी वैक्सीन उपयोग हुई और कितनी वैक्सीन शेष बची है, कितने लोगों को अब तक दी गई है। इसका पूरा हिसाब-किताब दिल्ली तक रहेगा।

देशभर में चलने वाले इस अभियान के लिए अभी तक देश भर में 50 हजार हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। राष्ट्रीय स्तर पर पर 2,360 लोगों को ट्रेनिंग दी गई है। जबकि जिला स्तर पर सात हजार लोगों को ट्रेनिंग दी गई है। वहीं अभी तक 681 जिलों में करीब 50 हजार प्रोफेशनल्स को वैक्सीन देने की ट्रेनिंग दी गई है।

हर बैच के चुनिंदा सैंपल की होगी जांच

सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन से वैक्सीन को अंतिम तौर पर मंजूरी मिलने के बाद देशभर में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। वैक्सीन के प्रयोग से पहले सरकार उसके हर बैच के कुछ सैंपल की जांच हिमाचल की सेंट्रल लैब या नोएडा स्थित लैब में करवाएगी। सैंपल पास होने के बाद सरकार इसे सभी राज्यों में भेजेगी।

देश के सुदूर ग्रामीण और पहाड़ी क्षेत्र में जहां सड़क से वैक्सीन को पहुंचाने में समय लगेगा, उन स्थानों की पहचान कर वायु मार्ग से वैक्सीन को सेंटर तक पहुंचाया जाएगा। पोर्टेबल कोल्ड चेन टांसपोर्ट के जरिए अन्य शहरों के सेंटर तक पहुंचाने की व्यवस्था होगी।

देश में वर्तमान में जितनी वैक्सीन प्रिजर्व करने की क्षमता है, उसमें एक करोड़ वैक्सीन के डोज को आसानी से रखा जा सकता है। फिलहाल देश में 29 हजार 947 कोल्ड चेन प्वाइंट हैं जिसमें 85 हजार 634 मशीन या इक्यूपमेंट हैं जिसमें वैक्सीन को सुरक्षित रखने की व्यवस्था है।


आगे पढ़ें

वैक्सीन कोल्ड चेन बॉक्स के जरिए लोगों तक पहुंचेगी वैक्सीन

Source link

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending

%d bloggers like this: