7.8 C
New York
Thursday, February 25, 2021
Home Movies News शरीर और मन को फिट रखेंगे ये योगासन, सीखें योग एक्सपर्ट सविता...

शरीर और मन को फिट रखेंगे ये योगासन, सीखें योग एक्सपर्ट सविता यादव से

योग एक्सपर्ट सविता यादव से आज हमने News18 Hindi के फेसबुक पेज पर योग करने के कई तरीके सीखे . लाइव योग सेशन (Live Yoga Session) में कई तरह के योग आसनों के बारे में बताया गया. योग शरीर से मन की यात्रा है. योग अभ्यास की प्रैक्टिस रोजाना करने से यह आदत में शामिल हो जाता है. योग करने से न केवल मनुष्य स्वस्थ (Healthy) रह सकता है बल्कि उसे हर प्रकार के तनाव (Stress) से भी मुक्ति मिलती है. योग सांसों और मन पर नियंत्रण पाने की क्रिया है.

मार्जारी आसन: मार्जरी आसन एक आगे की ओर झुकने और पीछे मुड़ने वाला योग आसन है. कैट वॉक दुनिया भर में प्रसिद्ध है, लेकिन हम योग आसन वर्ग में कैट पोज के बारे में चर्चा करते हैं. यह आसन आपके शरीर के लिए अनके प्रकार से लाभदायक है. यह आसन रीढ़ की हड्डी को एक अच्छा खिंचाव देता है. इसके साथ यह पीठ दर्द और गर्दन दर्द में राहत दिलाता है.

बटरफ्लाई आसन:
बटरफ्लाई आसन को तितली आसन भी कहते हैं. महिलाओं के लिए ये आसन विशेष रूप से लाभकारी है. बटरफ्लाई आसन करने के लिए पैरों को सामने की ओर फैलाते हुए बैठ जाएं,रीढ़ की हड्डी सीधी रखें. घुटनो को मोड़ें और दोनों पैरों को श्रोणि की ओर लाएं. दोनों हाथों से अपने दोनों पांव को कस कर पकड़ लें. सहारे के लिए अपने हाथों को पांव के नीचे रख सकते हैं. एड़ी को जननांगों के जितना करीब हो सके लाने का प्रयास करें. लंबी,गहरी सांस लें, सांस छोड़ते हुए घटनों एवं जांघो को जमीन की तरफ दबाव डालें. तितली के पंखों की तरह दोनों पैरों को ऊपर नीचे हिलाना शुरू करें. धीरे धीरे तेज करें. सांसें लें और सांसे छोड़ें. शुरुआत में इसे जितना हो सके उतना ही करें. धीरे-धीरे अभ्यास बढ़ाएं.

चक्‍की चलनासन

इस आसन की उत्‍पत्ति पुराने जमाने में हाथ से चलाई जाने वाली चक्‍की से हुई है. इसलिए इसका नाम भी चक्‍की चलनासन है यानी यह आसन उस तरह किया जाता है, जिस तरह हाथ से आटा पीसने वाली चक्‍की चलाई जाती है. इसलिए इसे करना न मुश्किल है और न ही ज्‍यादा टैक्‍नीकल.

चक्‍की चलनासन कैसे करें

चक्‍की चलनासन करना बेहद आसान है. इसके लिए आप फर्श पर दरी या मैट बिछाकर बैठ जाएं.

बैठने के बाद अपने दोनों पैरों को बिल्‍कुल सामने की ओर फैला लें. हालांकि चक्‍की बैठकर चलाई जाती थी पर इसमें आपको पैरों के बल नहीं बल्कि कूल्‍हों को जमीन पर टिका कर आराम से बैठना है.

बैठने के बाद दोनों हाथों को जोड़कर पैरों के पास तक यानी अपने सामने लाएं. दोनों हाथों को जोड़े हुए ही इसे क्‍लॉक वाइज घुमाना शुरू करें, जिस तरह चक्‍की चलाई जाती है. इसी तरह एंटी क्‍लॉक वाइज घुमाएं. शुरुआत में आप इसे 10 मिनट कर सकते हैं.

चक्‍की चलनासन के फायदे

इस आसन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे बैली फैट घटाने में मदद मिलती है. लटके हुए पेट को वापस शेप में लाने के लिए यह आसन बहुत फायदेमंद है. चक्‍की चलनासन करने से लोअर एब्‍डोमन और पेल्विक एरिया का भी एक्सरसाइज होता है. इससे कमर को लचीला बनाने में भी मदद मिलती है.

Source link

adminhttps://superiorvenacava.com
Hi, my name is Gautam, I have experience in Digital Marketing, SEO Marketing, Social Media Marketing, Blogging, & Writer. Certified by Google Certificate & Certified from the Digital Marketing Institute in New Delhi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Make onion thoran like to eat something different, guests who come home will also like this dish | कुछ डिफरेंट खाने का मन हो...

आज का राशिफलमेषमेष|Ariesपॉजिटिव- आज आप दिनचर्या संबंधी गतिविधियों को नया रूप देने का प्रयास करेंगे, और कामयाब भी रहेंगे। किसी धार्मिक आयोजन संबंधी कार्य...

Bailey village of Rautu in Uttarakhand is called ‘Paneer Village’, this name was given because of making and selling cheese in every house of...

Hindi NewsWomenLifestyleBailey Village Of Rautu In Uttarakhand Is Called 'Paneer Village', This Name Was Given Because Of Making And Selling Cheese In Every House...

Bailey village of Rautu in Uttarakhand is called ‘Paneer Village’, this name was given because of making and selling cheese in every house of...

Hindi NewsWomenLifestyleBailey Village Of Rautu In Uttarakhand Is Called 'Paneer Village', This Name Was Given Because Of Making And Selling Cheese In Every House...

Recent Comments

%d bloggers like this: